[पंजीकरण] हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री मधु विकास योजना रजिस्ट्रेशन कैसे करें – HP Madhu Vikas Yojana Eligibility 2022

Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana 2022 : हिमाचल प्रदेश में राज्‍य के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले बेरोजगार नौजवानों के लिये एक स्‍वरोजगार योजना का संचालन किया जा रहा है। इस योजना का नाम हिमाचल प्रदेश मुख्‍यमंत्री मधु विकास योजना है।

मुख्‍यमंत्री मधु विकास योजना हिमाचल प्रदेश के तहत राज्‍य के बेरोजगार युवाओं को बागानों में मधुमक्‍खी पालन के लिये प्रेरित किया जा रहा है। जो युवा इस स्‍वरोजगार को अपनाने के लिये आगे आयेंगें, उन्‍हें हिमाचल प्रदेश सरकार के द्धारा Madhu Vikas Yojana के तहत 80% तक सब्सिडी प्रदान की जायेगी।

इस योजना के तहत राज्‍य सरकार सब्सिडी के अलावा मधुमक्‍खी पालन करने के इच्‍छुक युवाओं को जरूरी प्रशिक्षण भी उपलब्‍ध करायेगी। यह प्रशिक्षण Horticulture Department, Himachal Pradesh के द्धारा दिया जायेगा।

आज की इस पोस्‍ट में हम आपको Himachal Pradesh Madhu Vikas Yojana 2022 | CM Madhu Vikas Yojana Apply | Mukhya Mantri Madhu Vikas Yojana | HP Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana Pdf | मधुमक्‍खी पालन योजना हिमाचल प्रदेश | हिमाचल प्रदेश मधुमक्‍खी पालन योजना form आदि के विषय में विस्‍तार से तथा स्‍टेप बाई स्‍टेप जानकारी देने जा रहे हैं, कृप्‍या इस पोस्‍ट को ध्‍यानपूर्वक पढ़ें।

Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana Details in Hindi 2022

Himachal Pradesh Mukhyamntri Madhu Vikas Yojana Registration / Apply Process / Avedan ka Tarika
मुख्‍यमंत्री विकास योजना – हिमाचल प्रदेश की योजना शहद उत्‍पादन के लिये

मुख्‍यमंत्री मधु विकास योजना हिमाचल प्रदेश सरकार की एक बहुत ही महत्‍वपूर्णं योजना है। इस योजना के तहत राज्‍य सरकार की मंशा राज्‍य के ग्रामीण इलाकों से शहरों की ओर होने वाले पलायन पर रोक लगाना है।

सरकार का स्‍पष्‍ट मानना है कि यदि राज्‍य के ग्रामीण इलाकों के युवाओं को गांवों में ही रोजगार उपलब्‍ध कराया जायेगा तो वह नौकरी की तलाश में शहरों की ओर नहीं जायेंगें। इस बात को मददेनजर रखते हुये सरकार ने मधुविकास योजना लांच की थी।

इस योजना के तहत अब तक राज्‍य के सैंकड़ों बेरोजगार नौजवानों को गांव स्‍तर पर ही रोजगार मिल चुका है। इस योजना का क्रियान्‍वय राज्‍य के हॉर्टीकल्‍चर डिपार्टमेंट के द्धारा किया जा रहा है।

हिमाचल प्रदेश हार्टीकल्‍चर विभाग मधुमक्‍खी पालन योजना के प्रचार प्रसार के साथ साथ, युवाओं को मधुमक्‍खी पालन प्रशिक्षण भी देता है और फिर अंत में योजना के तहत Apply करने वाले युवाओं को 80% सब्सिडी का वितरण करके उन्‍हें अपनी यूनिट मधु विकास यूनिट लगाने में भी मदत करता है।

HP Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana पात्रता मानदंड क्‍या हैं

Eligibility Criteria for Madhu Vikas Yojana / हिमाचल प्रदेश मधुमक्‍खी पालन योजना इस प्रकार हैं –

  • मधु विकास योजना HP के तहत हिमाचल प्रदेश के मूल निवासी ही पात्र माने जाते हैं।
  • राज्‍य के बेरोजगार युवा जो अपने लिये स्‍वरोजगार यूनिट लगाना चाहते हैं, उन्‍हें इस योजना के लिये पात्र माना जाता है।
  • बेरोजगार युवक / युवतियां पात्र होंगीं।
  • राज्‍य के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोग इस योजना के लिये सीधे तौर पर पात्र माने जायेंगे।
  • Also Read :
  • पीएम किसान सम्‍मान निधि स्‍टेटस ऑनलाइन चेक कैसे करें?
  • गोधन न्‍याय योजना क्‍या है?

Key Highlights of Madhu Vikas Yojana HP

  • योजना का नाम – मुख्‍यमंत्री मधु विकास योजना
  • राज्‍य – हिमाचल प्रदेश
  • कब लागू हुई – 2018
  • लाभार्थी वर्ग – राज्‍य के बेरोजगार युवा
  • योजना का क्रिन्‍यवयन – उद्धान विभाग हिमाचल प्रदेश
  • आधिकारिक वेबसाइट – https://eudyan.hp.gov.in/

हिमाचल प्रदेश मधु विकास योजना के लाभ

  • हिमाचल प्रदेश मधु विकास योजना के तहत राज्‍य के बेरोजगार युवा स्‍वरोजगार के लिये प्रेरित हो रहे हैं।
  • वर्तमान में हिमाचल प्रदेश में 1500 मीट्रिक टन शहद का उत्‍पादन किया जा रहा है, मधु विकास योजना के तहत इस उत्‍पदान को बढ़ा कर 2 गुना करने का लक्ष्‍य निर्धारित किया गया है।
  • घरों में देशी मधुमक्‍खी पालने के इच्‍छुक लोगों को भी प्रति छत्‍ता 1 हजार रूपये दिये जाते हैं।
  • मधुमक्‍खी पालन योजना हिमाचल प्रदेश में शहद उत्‍पदान के साथ साथ बागवानी के क्षेत्र में भी क्रांति लायेगी।
  • चूंकि शहद का निर्मांण फूलों के द्धारा होता है, इसलिये मधुमक्‍खी पालन करने वाले किसान बागवानी करके राज्‍य को समृद्ध बनाने की दिशा में बढ़ चढ़ कर काम करेंगें।
  • यह योजना राज्‍य के ग्रामीण इलाकों में समृद्धि लायेगी।
  • मधु विकास योजना से जुड़े किसान परिवारों की आमदनी 2 गुनी से अधिक हो जायेगी।
  • इस योजना के तहत उत्‍पादित होने वाले शहद को अन्‍य राज्‍यों में बेंच कर बड़ी रकम हासिल की जा सकेगी। इससे राज्‍य की समृद्धि का बढ़ना निश्चित है।
  • Also Read :
  • राजस्‍थान मुख्‍यमंत्री डिजीटल सेवा योजना लिस्‍ट में नाम कैसे चेक करें?
  • यूपी बुढ़ापा पेंशन योजना सूची में नाम ऑनलाइन कैसे चेक करें? 

मधु विकास योजना हिमाचल प्रदेश की मुख्‍य विशेषतायें क्‍या हैं

इस योजना के तहत राज्‍य के किसानों / बेरोजगार युवाओं को 80% सब्सिडी प्रदान की जा रही है। जिससे बड़ी तादात में लोग मधुमक्‍खी पालन के लिये आगे आ रहे हैं।

इस योजना का कियान्‍वयन हिमाचल प्रदेश के जिलों की भौगोलिक तथा जिले के वातावरण के आधार पर किया जायेगा। प्रत्‍येक जिले में लगभग 300 मधुमक्‍खी उपनिवेशों को मौन पालन के लिये 3 लाख रूपये तक की आर्थिक सहायता प्रदान किये जाने का प्रावधान है।

योजना के तहत 50 प्रतिशन सब्सिडी ला‍भार्थियों को परिवहन के रूप में दी जायेगी।

योजना के तहत हर साल उद्धाग विभाग के द्धारा प्रशिक्षण कैम्‍पों का आयोजन किया जायेगा। इन कैम्‍पों में 5 दिवसीय प्रशिक्षण दिया जायेगा। इन कैम्‍पों में प्रशिक्षण लेने वाले किसानों / युवाओं को 400 रूपये प्रतिदिन के हिसाब से धन‍राशि भी वितरित की जायेगी।

Madhu Vikas Yojna के तहत च‍यनित युवाओं को 2 बीघा क्षेत्र वाला बागान भी उपलब्‍ध कराया जायेगा। जिससे लाभार्थी की युनिट स्‍थापित की जा सके।

लाभार्थी युवाओं / किसानों को कंटेनर से शहद निकालने के लिये खाद्ध ग्रेड कंटेनर भी प्रदान किये जायेंगे, जिसके लिये 50 प्रतिशत सब्सिडी की व्‍यवस्‍था की गयी है।

मधुमक्‍खी पालन योजना युवाओं को शहद उत्‍पादन के लिये प्रेरणास्रोत का काम कर रही है, साथ ही शहद उत्‍पादन के आधुनिकीकरण को भी बढ़ावा दे रही है।

Documents required for मुख्‍यमंत्री मधु विकास योजना हिमाचल प्रदेश 2022

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज रंगीन फोटो
  • आय प्रमाण पत्र
  • पैनकार्ड
  • मतदाता पहचान पत्र
  • राशनकार्ड
  • बैंक खाता पासबुक की फोटोकॉपी IFSC कोड सहित

मधुमक्‍खी पालन योजना Pdf गाइलाइन HP

यदि आप HP Madhu Vikas Yojna Pdf Guidelines डाउनलोड करना चाहते हैं तो आप नीचे दिये गये लिंक पर Click करके Download कर सकते हैं।

Madhu Vikas Yojana Registration Kaise Kare

यदि आप मधु विकास योजना में आवेदन करना चाहते हैं, तो आपको Apply Process के बारे में जानकारी जरूर होनी चाहिये। क्‍योंकि बिना सटीक जानकारी के आप इस योजना का लाभ नहीं ले पायेंगें।

हिमाचल प्रदेश मुख्‍यमंत्री मधु विकास योजना Application Form आपको अपने जिले के Horticulture Department में मिल जायेगा। यह फार्म आपको निशुल्‍क मिलता है।

  • आपको यह फार्म साफ साफ अक्षरों में भरना है। फार्म में जो जानकारी मांगी गयी है, वह जानकारी बिल्‍कुल सही सही भरें।
  • पूरा फार्म भर जाने के बाद आपको इस पर अपना रंगीन पासपोर्ट साइज फोटो चिपकाना है।
  • इसके बाद फार्म के साथ सभी जरूरी दस्‍तावेजों को संलंग्‍न करना है।
  • फार्म कंपलीट हो जाने के बाद आप इस पर अपने हस्‍ताक्षर करें और फिर उद्धान विभाग के कार्यालय में जाकर जमा कर दें।
  • आवेदन पत्र जमा करने के बाद आपके आवेदन पत्र की जांच की जायेगी, यदि आपका Application Form सही पाया जाता है, तो आपको चयन हिमाचल मधुमक्‍खी पालन योजना के तहत हो जायेगा।

FAQ – अक्‍सर पूछे जाने वाले सवाल

मुख्‍यमंत्री मधु विकास योजना के तह‍त कितनी मधुमक्‍खी कॉलौनी दी जाती हैं?

इस योजना के तहत सरकार के द्धारा 50 मधुमक्‍खी कॉलौनी उपलब्‍ध कराई जाती हैं।

प्रत्‍येक Bee Colony के लिये कितने रूपये प्रदान की किये जाते हैं?

योजना के तहत 80% सब्सिडी के रूप में प्रति Bee Colony के लिये 1600 रूपये निर्धारित हैं।

मधुमक्‍खी पालन ट्रेनिंग के लिये प्रत्‍येक जिले में कितने लोगों का चयन किया जाता है?

योजना के तहत हर साल 25 नये लोगों का चयन किया जाता है, ट्रेनिंग लेने वाले लाभार्थियों को प्रतिदिन 400 रूपये भी प्रदान किये जाते हैं।

Madhu Vikas Yojana Application Form कब मांगें जाते हैं तथा इसकी सूचना कहां से प्राप्‍त होती है?

हिमाचल मुख्‍यमंत्री मधु विकास योजना के आवेदन पत्र हर साल उद्धान विभाग के द्धारा मांगे जाते हैं। तथा इसकी सूचना समय समय पर अखबारों में विज्ञापन प्रकाशित करा कर दी जाती है।

तो दोस्‍तों यह थी हमारी आज की पोस्‍ट Himachal Pradesh Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana Registration Kaise Kare यदि आप Madhu Makhi Palan Yojana Form के विषय में कोई अन्‍य प्रश्‍न पूछना चाहते हैं, तो आप हमसें कमेंट बॉक्‍स के जरिये पूछ सकते हैं।

Spread the love

1 thought on “[पंजीकरण] हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री मधु विकास योजना रजिस्ट्रेशन कैसे करें – HP Madhu Vikas Yojana Eligibility 2022”

  1. स्वरोजगार की दिशा में युवाओं के लिये अच्छी योजना है। युवा इस योजना का लाभ उठायें।

    Reply

Leave a comment